50+ Griha Pravesh Invitation Message In Hindi For Whatsapp

Griha Pravesh Invitation Message image

Griha Pravesh Invitation Message In Hindi For Whatsapp

हम पर अपना प्यार और स्नेह बरसाइयेहमारे गृहप्रवेश पर सपरिवार जरुर आइये.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.

==
कोई भी घर में समझता न था मिरे दुख सुख
एक अजनबी की तरह मैं ख़ुद अपने घर में था
===
बड़ी मेहनत से हमने एक घरौंदा बनाया हैइस ख़ुशी के अवसर पर आपको बुलाया है.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.

===

सभी के आशीर्वाद और प्यार से हमारा नया घर बन पाया हैदिल ने सभी को आने का पैगाम हवाओं से भिजवाया है.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
==
उन दिनों घर से अजब रिश्ता था
सारे दरवाज़े गले लगते थे

====
गृहप्रवेश का अवसर कर रहा आपका इंतजार है हमारी खुशियों का आधार तो आपका प्यार है.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
====
ना कोई टालमटोल, ना को बहाना चलेगा. आपको हमारे गृहप्रवेश में आना पड़ेगा.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
====
Griha Pravesh Invitation Message In Hindi For Whatsapp
.फूल खिलें खुशियों के प्यारे
गोद में खेलें चांद-सितारे
आनंद की हो लाली घर में रौनक हो-
====

.सेवाभाव हो सबके मन में
स्नेह-सूत्र झलके नयनन में
भक्ति की हो लाली घर में रौनक हो-
===
गृहप्रवेश का सपना सच होने जा रहा हैघर का हर शख्स अपनों को बुला रहा है.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
Griha Pravesh Invitation Message In Hindi For Whatsapp

कृपा रहे हर पल भगवन की
पूरी हों आशाएं मन की
आशीषों की लाली घर में रौनक हो-

===
अपना घर आने से पहले
इतनी गलियाँ क्यूँ आती हैं

===
दर्द-ए-हिजरत के सताए हुए लोगों को कहीं
साया-ए-दर भी नज़र आए तो घर लगता है
===

हम और आप वही पुराने हैं. बस अब से मेरे नये ठिकाने हैं
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
==
सदा रहे खुशहाली घर में रौनक हो
मुस्कानों की लाली घर में रौनक हो
नए घर की हो बधाई घर में रौनक हो-
===

स्वस्थ रहें घर के सब वासी,
दूर रहे इस घर से उदासी
चेहरों पे हो लाली घर में रौनक हो

Griha Pravesh Invitation Message In Hindi For Whatsapp

जो भी अतिथि घर में आए
आदर पा खुश होकर जाए
प्रेम-प्यार की लाली घर में रौनक हो
===
हमारी खुशियों में आप भी शामिल हो जाइयेहमारे गृहप्रवेश में आकर, घर की रौनक बढाइए.
Accept Griha Pravesh Invitation through this msg.
===

गुरेज़-पा है नया रास्ता किधर जाएँ
चलो कि लौट के हम अपने अपने घर जाएँ
==
इक घर बना के कितने झमेलों में फँस गए
कितना सुकून बे-सर-ओ-सामानियों में था
=
कब आओगे ये घर ने मुझ से चलते वक़्त पूछा था
यही आवाज़ अब तक गूँजती है मेरे कानों में
=
कभी तो शाम ढले अपने घर गए होते
किसी की आँख में रह कर सँवर गए होते
===

‘कैफ़’ परदेस में मत याद करो अपना मकाँ
अब के बारिश ने उसे तोड़ गिराया होगा
==
किस से पूछूँ कि कहाँ गुम हूँ कई बरसों से
हर जगह ढूँढता फिरता है मुझे घर मेरा

Griha Pravesh Invitation Message In Hindi with images
कोई वीरानी सी वीरानी है
दश्त को देख के घर याद आया

==

तमाम ख़ाना-ब-दोशों में मुश्तरक है ये बात
सब अपने अपने घरों को पलट के देखते हैं
==
तुम परिंदों से ज़ियादा तो नहीं हो आज़ाद
शाम होने को है अब घर की तरफ़ लौट चलो

====
उस की आँखों में उतर जाने को जी चाहता है
शाम होती है तो घर जाने को जी चाहता है

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *